Phool Gendwa Na Maro Lyrics 2021 Free Reading

Phool Gendwa Na Maro Lyrics दूज का चाँद फिल्म से लिया गया है और इसके लेखक है श्री साहिर लुधियानवी और म्यूजिक दिया है श्री रोशन ने। phool gendwa na maro lyrics आपको हिन्दी मे पढ़ने को मिलेगी ।

Phool Gendwa Na Maro Lyrics

Phool Gendwa Na Maro Lyrics Detail’s

Movie/Album: दूज का चाँद (1964)
Music By: रोशन
Lyrics By: साहिर लुधियानवी
Performed By: मन्ना डे

Phool Gendwa Na Maro Lyrics in Hindi

अजी फुल गेन्दवा न मारो, न मारो
लगत करेजवा में चोट
दूँगी मैं दुहाई
काहे चतुर बनत
ठिठोरी करत हरजाई
फूल गेंदवा न मारो…

हे दहका हुआ ये अंगारा, अंगारा
दहका हुआ ये अंगारा
जो गेन्दवा कहलाये है
अजी तन पर जहाँ गिरे पापी
वहीं दाग़ पड़ जाये है
अंग-अंग मोरा पीर करे
और करके कहे
फुल गेन्दवा न मारो…

रुक जाओ, रुक जाओ
रुक जाओ, रुक जाओ
रुक जाओ
ना सताओ मोहे जुलमी बलम, ओ बलम
मान जाओ बिनती अबला की
देखो-देखो अब दूँगी दुहाई
काहे चतुर बनत
ठिठोरी करत हरजाई
फुल गेन्दवा न मारो
न मारो, न मारो, न

प प ध
ध ध ध, ध ध ध, ध नि ध
प म ग प म
ग म ग रे स
सं स सं स सं स
फुल गेन्दवा न मारो
न मारो -३
लगत करेजवा में चोट
करेजवा में चोट, करेजवा में चोट
सं गं, गं रें, रें सं
सं मं, मं गं, गं रें, रें सं
सं नि नि नि, सं ध ध ध, सं प प
प सं प सं प सं प सं
प नि म
फुल गेन्दवा न -३
न मारो -३
अरे फुल गेन्दवा न मारो…

Chandan chandan zali raat lyrics 2021 Free

Phool Gendwa Na Maro Lyrics Video

 

 

 

2 thoughts on “Phool Gendwa Na Maro Lyrics 2021 Free Reading”

Leave a Comment